82 हजार करोड़ की डील के लिए 32 हजार करोड़ का कर्जा जुटने की तैयारी में अडानी - SAMACHAR GYAN 82 हजार करोड़ की डील के लिए 32 हजार करोड़ का कर्जा जुटने की तैयारी में अडानी - SAMACHAR GYAN

82 हजार करोड़ की डील के लिए 32 हजार करोड़ का कर्जा जुटने की तैयारी में अडानी

गौतम अडाणी का सितारा इन दिनों चमक रहा है. वे एक के बाद बड़ी कंपनियों का अधिग्रहण कर रहे हैं और बहुत तेजी से अपने बिजनेस एम्पायर का विस्तार कर रहे हैं. हजारों करोड़ की डील करने के लिए वे बड़े पैमाने पर कर्ज उठा रहे हैं.

इकोनॉमिक टाइम्स में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, अडाणी ग्रुप (Adani Group) 4.5 बिलियन डॉलर (करीब 33 हजार करोड़) का विदेशी कर्ज जुटाने में लगा हुआ है. किसी भी भारतीय कंपनी की तरफ से यह अब तक की सबसे बड़ी विदेशी मुद्रा में कर्ज उगाही होगी. पिछले दिनों अडाणी ग्रुप ने भारत की सीमेंट इंडस्ट्री का सबसे बड़ा अधिग्रहण किया. उन्होंने होल्किम ग्रुप से अंबुजा और एसीसी सीमेंट को करीब 82 हजार करोड़ में खरीदा है.

ओवरसीज लोन के लिए अडाणी ग्रुप मेजनिन फाइनेंसिंग, ब्रिज लोन पेड इन कैश, 18 महीने के लिए सीनियर डेट फैसिलिटी जैसे विकल्पों पर विचार कर रहा है. होल्किम अधिग्रहण के लिए अडाणी ग्रुप को बार्कलेज, डच बैंक ने क्रेडिट लाइन देने की बात कही है. इसके अलावा BNP परिबास, सिटी बैंक, जेपी मॉर्गन, MUFG, मिजूहो बैंक, SMBC बैंक और मिडिल ईस्ट के कुछ लेंडर्स से भी बातचीत चल रही है.

अडाणी ग्रुप पर पहले से 2.2 लाख करोड़ का लोन

अडाणी ग्रुप पहले से भारी कर्ज के बोझ तले दबा है. अपने वर्तमान बिजनेस के विकास के लिए भी ग्रुप बड़े पैमाने पर लोन उठा रहा है. रिपोर्ट्स के मुताबिक, मार्च 2022 के अंत में अडाणी ग्रुप पर कुल 2.22 लाख करोड़ रुपए का कर्ज है. मार्च 2021 में यह 1.57 लाख करोड़ रुपए था. सालाना आधार में इसमें 42 फीसदी का उछाल दर्ज किया गया है.

इस तरह से लोन जुटाने की है तैयारी

रिपोर्ट के मुताबिक, अडाणी ग्रुप सीनियर डेट फैसलिटी की मदद से 3 बिलियन डॉलर का फंड इकट्ठा करने के बारे में विचार कर रहा है. मेजनिन फाइनेंसिंग की मदद से 1 बिलियन डॉलर जुटाने की तैयारी है. 1-3 सालों की मैच्योरिटी वाले ब्रिज लोन की मदद से 500 मिलियन डॉलर इकट्ठा करने का प्लान है. ब्रिज लोन को एसीसी और अंबुजा सीमेंट के शेयरों से सपोर्ट किया जाएगा. आसान शब्दों में कहें तो इन दो कंपनियों के शेयर के बदले यह लोन दिया जाएगा.

7-8 फीसदी का होगा सालाना इंट्रेस्ट

माना जा रहा है कि मेजनिन लोन के लिए इंट्रेस्ट रेट 7-8 फीसदी सालाना होगा. मेजनिन फाइनेंसिंग लोन इकट्ठा करने का एक हाइब्रिड तरीका है जिसमें डेट और इक्विटी दोनों शामिल होता है. अगर लोन लेने वाला पेमेंट में डिफॉल्ट करता है तो बैंक डेट पार्ट को इक्विटी में कंवर्ट कर सकता है. माना जा रहा है कि अडाणी ग्रुप कई बैंकों से यह लोन लेगा. एक बैंक से 200-500 मिलियन डॉलर का लोन जारी किया जा सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.