ऑडी मार्किट में इलेक्ट्रिक कार उतारने की कर रही है तैयारी, ई-ट्रॉन लॉन्च करेगी

ऑडी अपनी इलेक्ट्रॉनिक ई-ट्रॉन (ऑडी ई-ट्रॉन) कार के साथ 2021 में भारतीय कार बाजार में उतर सकती है। इसकी पुष्टि भारत में ऑडी चीफ बलबीर सिंह ढलान ने की है। उन्होंने कहा कि कंपनी देश में अपनी इलेक्ट्रिक कारों के लिए सभी विकल्पों पर विचार कर रही है। उन्होंने कहा कि ऑडी 2020 ने आधे साल में दुनिया भर में ई-ट्रॉन कार की 17,641 यूनिट बेची हैं। इससे पता चलता है कि ऑडी की ई-ट्रॉन कार उपभोक्ताओं के बीच बहुत लोकप्रिय है।

ऑडी की योजना 2025 तक 20 इलेक्ट्रिक कार लॉन्च करने की है

उपभोक्ताओं की पसंद को ध्यान में रखते हुए ऑडी ने 2025 तक 20 इलेक्ट्रिक कार लॉन्च करने की योजना बनाई है। इसके साथ ऑडी इलेक्ट्रिक कारों की दुनिया में अपनी पहचान बनाना चाहती है। दूसरी ओर, ऑडी जैसी इलेक्ट्रिक कार निर्माताओं को भारतीय बाजार पर एक नज़र डालना बाकी है, फिर भी भारत में ऑडी के प्रमुख बलबीर सिंह ढलान ने Q2 एसयूवी के लॉन्च से एक दिन पहले कहा था कि ई-ट्रॉन कार को 2021 में भारत में लॉन्च किया जाएगा। लॉन्च करने की योजना बना रहा है। उन्होंने कहा कि देश में ईवीएस वाहनों को लॉन्च करने से पहले कंपनी बाजार की निगरानी कर रही है। यह देखा जाना बाकी है कि ईवीएस कारों और अन्य ईवीएस कार निर्माताओं के लिए सरकार की योजना कैसे काम करती है।

इलेक्ट्रिक कार मार्केट में धूम मचाने की तैयारी में Audi, लॉन्च करेगी e-tron  SUV

Mercedes-Benz ने लॉन्च की इलेक्ट्रिक SUV मॉडल EQC

मर्सिडीज बेंज ने भारत में अपने इलेक्ट्रिक वाहनों को लॉन्च किया कंपनी ने हाल ही में इलेक्ट्रिक एसयूवी मॉडल EQC लॉन्च किया है। इसे 99.30 लाख रुपये की प्रारंभिक कीमत पर लॉन्च किया गया है। यह परिचयात्मक मूल्य इलेक्ट्रिक एसयूवी की पहली 50 इकाइयों के लिए है। यह सब-इलेक्ट्रिक एसयूवी मर्सिडीज-बेंज ईक्यू ब्रांड के तहत पहला उत्पाद है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जगुआर लैंड रोवर 2021 की शुरुआत में भारतीय ईवी कार बाजार को आई-पेस ईवी से टक्कर देगा।

भारत सरकार ने ईवीएस पर छूट दी है

सरकार सभी विदेशी कंपनियों को कुछ छूट दे रही है जो इलेक्ट्रिक वाहन बनाती हैं। कंपनी 2,500 यूनिट वाहनों का आयात कर सकती है और उन्हें भारतीय बाजार में बेच सकती है। उन्हें इसके लिए किसी अनुमोदन की आवश्यकता नहीं होगी। लेकिन इन कंपनियों के इलेक्ट्रिक वाहनों को यूरोपीय संघ और जापान द्वारा प्रमाणित होना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here